किसान आंदोलन को लेकर गाजीपुर बॉर्डर पर हुई हलचल तेज, दिल्ली पुलिस ने हटाईं नुकीली कीलें
The agitation on the Ghazipur border intensified due to the farmers' movement, Delhi Police removed sharp spikes

किसान आंदोलन को लेकर गाजीपुर बॉर्डर पर हुई हलचल तेज, दिल्ली पुलिस ने हटाईं नुकीली कीलें

नई दिल्ली: कृषि कानूनों के खिलाफ लगातार प्रदर्शन कर रहे किसानों को रोकने के लिए दिल्ली पुलिस ने बार्डर पर नुकीली कीलें लगाई थीं और वहां पर सिक्योरिटी बढ़ा दी गई थी, परन्तु वीरवार सुबह से ही दिल्ली-उत्तर प्रदेश के गाजीपुर बॉर्डर पर हलचल काफी बढ़ गई है। दिल्ली पुलिसकर्मियों द्वारा की गई मल्टीलेयर बैरिकेडिंग के तहत सड़क पर लगाई गई नुकीली कीलों को हटा लिया गया है।

वहीं दिल्ली पुलिस का कहना है कि इस मल्टलेयर सिक्योरिटी की रिपोजिशनिंग की जा रहा है। फिलहाल केवल सड़क पर लगी नुकीली कीलों को हटाया गया है। केन्द्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों से मुलाकात करने जा रहे दस विपक्षी दलों के 15 सांसदों को पुलिस ने बृहस्पतिवार को गाजीपुर सीमा पर जाने से रोका दिया ।

प्रदर्शनकारी किसानों से मिलने जा रहे 15 सांसदों के समूह में शिरोमणि अकाली दल (शिअद) , द्रविड मुनेत्र कषगम (द्रमुक), राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और तृणमूल कांग्रेस समेत अन्य दलों के सांसद शामिल थे। शिअद नेता हरसिमरत कौर बादल ने बताया कि नेताओं को अवरोधकों को पार करने और प्रदर्शन स्थल पर जाने की अनुमति नहीं दी गई। हरिसमरत के अलावा राकांपा सांसद सुप्रिया सुले, द्रमुक से कनिमोई और तिरुचि शिवा, तृणमूल कांग्रेस के सौगत राय इस समूह का का हिस्सा थे।