अब हाइवे पर हादसे होते ही मौके पर पहुंचेगी एंबूलेंस, मंत्रालय, हाईटेक सिस्टम बनाने में जुटा मंत्रालय
Now ambulance, ministry, ministry engaged in building hi-tech system as soon as accident happens on highway

अब हाइवे पर हादसे होते ही मौके पर पहुंचेगी एंबूलेंस, मंत्रालय, हाईटेक सिस्टम बनाने में जुटा मंत्रालय

नई दिल्ली: भारत की सड़कों पर हर साल हजारों लोग हादसों के बाद मौके पर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया न होने के कारण अपनी जान गंवा देते हैं, जिसको देखते हुए सड़क परिवहन राजमार्ग मंत्रालय एक हाईटेक योजना पर काम कर रहा है, जिसके तहत अब हाईवे पर हादसा होते ही एंबूलेंस और पुलिस को खबर हो जाएगी।
जानकाीर अनुसार सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने अब एक ऐसी तकनीकी व्यवस्था करने की तैयारी है कि राष्ट्रीय राजमार्गों पर सड़क हादसा होते ही तुरंत एंबुलेंस और पुलिस को खबर हो जाएगी।जीपीएस सिस्टम से लैस एंबुलेंस की व्यवस्था होगी। इसी तरह सड़क हादसों को रोकने की दिशा में भी मंत्रालय कई नई योजनाओं पर भी कार्य कर रहा है। देश भर के आईआईटी, एनआईटी जैसे इंजीनियरिंग संस्थानों के साथ मिलकर सड़क हादसे को रोकने की कार्ययोजना पर भी काम चल रहा है।

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के सचिव गिरिधर अरमने ने एक सवाल के जवाब में बताया कि रोड सेफ्टी की दिशा में इमरजेंसी रेस्पांस मैकेनिज्म पर काम चल रहा है। एंबुलेंस, पुलिस कंट्रोल रूम, हास्पिटल सभी के एक नेटवर्क से जुड़ने से सड़क हादसे के शिकार लोगों को तुरंत इलाज मिलना संभव होगा और राहत एवं बचाव कार्य में भी सुविधा होगी। हादसा होते ही रियल टाइम इंफार्मेशन मिलेगी। कुछ ही समय में सड़क हादसे के शिकार लोगों के लिए कैशलेस ट्रीटमेंट स्कीम भी शुरू होगी। इसके लिए स्वास्थ्य मंत्रालय से भी बात चल रही है।