कोरोना वैक्सीनेशन पर सरकार का बड़ा फैसला, 1 मार्च से सरकारी अस्पतालों में लगेगा फ्री कोरोना टीका, प्राइवेट में देने होंगे पैसे
Government's big decision on corona vaccination, from March 1, free corona vaccine will be given in government hospitals, money will have to be given in private

कोरोना वैक्सीनेशन पर सरकार का बड़ा फैसला, 1 मार्च से सरकारी अस्पतालों में लगेगा फ्री कोरोना टीका, प्राइवेट में देने होंगे पैसे

नई दिल्ली: देश में कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा फेज 1 मार्च से शुरू होगा। 10 हजार सरकारी केंद्रों और 20 हजार निजी अस्पतालों में टीका लगाया जाएगा। इसमें 40 साल से ऊपर बीमार लोगों और 60 साल से ऊपर के सभी लोगों का वैक्सीनेशन होगा। 1 मार्च से 45 साल से ज्यादा उम्र के को-मॉर्बिड लोगों का भी वैक्सीनेशन होगा। अगर इस एज ग्रुप के लोग सरकारी केंद्रों में जाते हैं तो उनके लिए टीका मुफ्त होगा, लेकिन निजी अस्पतालों में इसके लिए उन्हें पैसा देना होगा। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बुधवार को कहा कि सरकारी केंद्रों पर टीकाकरण मुफ्त में होगा। हालांकि निजी सेंटर्स/हॉस्पिटल्‍स में जाने पर वैक्‍सीन की कीमत चुकानी होगी। यह कीमत कितनी होगी, यह स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय तय करके बताएगा। टीकाकरण के दूसरे चरण में 45 साल से ऊपर उम्र वाले वे लोग भी शामिल होंगे जिन्‍हें को-मॉर्बिडिटीज हैं।

जावड़ेकर ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्रालय अगले 2-3 दिन में कोरोना वैक्सीन की कीमत तय कर देगी। मंत्रालय इस वक्त कोरोना वैक्सीन निर्माताओं और अस्पतालों से चर्चा कर रहा है। जावड़ेकर ने कहा कि 1 मार्च से शुरू हो रहे टीकाकरण में 10,000 सरकारी और 20,000 प्राइवेट टीकाकरण सेंटर्स में टीकाकरण किया जाएगा। सरकारी केंद्रों में मुफ्त में टीके लगवाए जाएंगे।