जालंधऱ में एक और ट्रैवल एजेंट के कर्मचारियों ने विदेश भेजने के नाम पर युवकों से ठगे लाखों रुपए
Another travel agent's employees cheated millions of youths in the name of sending them abroad in Jalandh

जालंधऱ में एक और ट्रैवल एजेंट के कर्मचारियों ने विदेश भेजने के नाम पर युवकों से ठगे लाखों रुपए

जालंधरः महानगर में पिछले कई दिनों से लगातार फर्जी ट्रैवल एजेंटों द्वारा युवकों को विदेश भेजने के नाम पर लाखों रुपए ठगने की खबरें लगातार आ रही हैं। इसी के तहत बुधवार को शहर की एक ट्रैवल एजेंसी के करनाल दफ्तर में बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है। यहां एजेंसी के ही तीन कर्मचारियों पर आरोप है कि उन्होंने विदेश में पढ़ने के इच्छुक स्टूडेंट्स से एडवांस में पैसे तो ले लिए लेकिन उन पैसों को कंपनी के खाते में नहीं जमा कराया और उन स्टूडेंट्स का वीजा लगवाने के लिए चंडीगढ़ और दिल्ली के ट्रेवल एजेंसी को केस भेज दिया।

जानकारी अनुसार मामले का खुलासा तब हुआ जब विशाल नाम का एक स्टूडेंट अपनी शिकायत लेकर कंपनी के डायरेक्टर रोहित सेठी के पास पहुंचा। इसके बाद डायरेक्टर ने पुलिस में शिकायत कर दी। वहीं इस मामले में केस दर्ज करने के बाद पुलिस जांच में जुट गई है। माना जा रहा है कि ठगे गए स्टूडेंट्स की संख्या सैकड़ों में हो सकती है, जिस का पता लगाने में पुलिस जुट चुकी है। पुलिस ने प्रारंभिक जांच के बाद एजेंसी के तीन कर्मचारियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। इनमें करनाल दफ्तर की मैनेजर वीजा काउंसलर और काउंसलर शामिल है।

वहीं कंपनी के डायरेक्टर रोहित सेठी ने बताया कि उनकी कंपनी का टाई अप आस्ट्रेलिया, कनाडा, ब्रिटेन और सिंगापुर की यूनिवर्सिटी से है। उनकी कंपनी विदेश में पढ़ने के इच्छुक स्टूडेंट्स को विदेश भेजती है। इसके साथ ही यह कंपनी किसी स्टूडेंट से पैसा नहीं लेती जब तक यूनिवर्सिटी की तरफ से स्टूडेंट को वीजा नहीं मिल जाता। बावजूद इसके उनकी कंपनी में काम करने वाली प्रेरणा अरोड़ा और उनके साथी स्टूडेंट से एडवांस में पैसे लेते रहे और उन्हें अपनी कंपनी के जरिए बाहर भेजने के बजाय किसी दूसरी कंपनी को भेज दिया।