दिल्ली पुलिस ने नाकाम की तिहाड़ जेल में दंगों के आरोपियों को मारने की साजिश, पुलिस ने पारा किया जब्त
Delhi Police foiled conspiracy to kill riot accused in Tihar Jail, police confiscated mercury

दिल्ली पुलिस ने नाकाम की तिहाड़ जेल में दंगों के आरोपियों को मारने की साजिश, पुलिस ने पारा किया जब्त

नई दिल्ली: तिहाड़ जेल में बंद दंगों के आरोपियों को तिहाड़ जेल में मारने की बड़ी साजिश नाकाम करते हुए दिल्ली पुलिस ने पारा जब्त कर दो आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है।
जानकारी अनुसार दिल्ली पुलिस को जेल में बंद दिल्ली दंगों के आरोपियों को जेल में मारने की साजिश का पता चलते ही तिहाड़ जेल में बंद दिल्ली दंगों के एक पक्ष के आरोपियों पर निगरानी शुरू कर दी जिसके बाद पुलिस को पता चला कि दंगों के आरोपियों को जेल में मर्करी (पारा) देकर मारने की साजिश थी। इस बात का खुलासे होते ही दिल्ली पुलिस के साथ जेल प्रशासन में भी हड़कंप मच गया है।

दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक, उत्तरी पूर्वी दिल्ली के कई इलाकों में दंगों के दौरान मौजपुर पुलिया और शिव विहार पुलिया के पास हत्या करने वाले आरोपियों की हत्या की साजिश थी। जेल में शाहिद और जेल के बाहर से असलम ने रची साजिश रची थी। इसी साजिश के तहत असलम ने जेल में शाहिद को पारा पहुंचाया था। इसकी भनक लगने पर स्पेशल सेल ने टेक्निकल सर्विलांस रखना शुरू किया और साजिश को नाकाम किया। पुलिस ने 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया है साथ ही तिहाड़ जेल से मर्करी जब्त की है।

गौरतलब है कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली में 23 से 25 फरवरी के दौरान भारी हिंसा हुई थी, जिसमें 52 लोग मारे गए थे और करीब 300 से अ‌धिक लोग घायल हो गए थे। कथित कट्टरपंथी संगठन पीएफआई पर सीएए के खिलाफ प्रदर्शनों के लिए धन मुहैया कराने के आरोप लगे थे। उत्तर पूर्वी दिल्ली में दंगाइयों ने जमकर तांडव किया था. दर्जनों घरों और दुकानों को आग के हवाले कर दिया गया। इन दंगो के मामले में कुल 755 एफआईआर दर्ज की गई थीं, इनमें सभी शिकायतें शामिल हैं।