बाटला हाउस एनकाउंटर मामले में आतंकी आरिज़ खान दोषी करार, इंडियन मुजाहिदीन के लिए करता है काम
Terrorist Ariz Khan convicted in Batla House encounter case, works for Indian Mujahideen

बाटला हाउस एनकाउंटर मामले में आतंकी आरिज़ खान दोषी करार, इंडियन मुजाहिदीन के लिए करता है काम

नई दिल्लीः दिल्ली में 2008 में बाटला हाऊस एनकाउंटर मामले में आज कोर्ट ने इंडियन मुजाहिद्दीन के आतंकी आरिज खान को दोषी करार दे दिया है। दिल्ली की एक अदालत ने सोमवार को आतंकी आरिज खान को दोषी करार दिया, आरिज खान को इस मामले में सजा 15 मार्च को सुनाई जाएगी। आतंकी द्वारा चलाई गोलियों से दिल्ली पुलिस के इंस्पेक्टर मोहन चंद शर्मा शहीद हो गए थे। इस मामले को लेकर राजनीति भी खूब हुई थी। आरिज खान को इंस्पेक्टर मोहन चंद शर्मा की हत्या के मामले में दोषी करार दिया गया है।

13 सितंबर 2008 को दिल्ली में सीरियल बम धमाके हुए थे और उसके बाद मामले की जांच कर रही दिल्ली पुलिस को सूचना मिली थी कि बाटला हाउस में धमाकों को अंजाम देने वाला संदिग्ध आतंकवादी जामिया नगर के बाटला हाउस में छिपा हुआ है। धमाकों के करीब एक हफ्ते बाद दिल्ली पुलिस के इंस्पेक्टर मोहन चंद शर्मा के नेतृत्व में टीम जब आतंकवादियों के ठिकाने पर पहुंची तो पुलिस टीम के ऊपर फायरिंग की गई जिसमें इंस्पेक्टर मोहन चंद शर्मा को गोली लगी और वे शहीद हो गए थे।

पुलिस की गोलीबारी में 2 संदिग्ध आतंकवादी मारे गए जबकि 1 को गिरफ्तार किया गया, 2 आतंकवादी वहां से फरार होने में कामयाब हो गए थे। एनकाउंटर के समय मारे गए आतंकियों के नाम आतिफ आमीन और मोहम्मद साजिद थे, मोहम्मद सैफ को मौके से पकड़ा गया था। इस एनकाउंटर में एक पुलिसकर्मी घायल भी हुआ था जबकि शहीद होने वाले इंस्पेक्टर मोहन चंद शर्मा को अशोक चक्र से सम्मानित किया गया था। इससे पहले 2013 में इस मामले में शहजाद अहमद को सज़ा हो चुकी है, वह भी उन आतंकियों में शामिल था जो एनकाउंटर के समय बाटला हाउस से भागा था।