महाशिवरात्रि पर आज कुंभ का पहला शाही स्नान, लाखों श्रद्धालुओं ने पावन गंगा में लगाई  डुबकी
Kumbh's first royal bath on Mahashivratri today, lakhs of devotees take a holy dip in the Ganges

महाशिवरात्रि पर आज कुंभ का पहला शाही स्नान, लाखों श्रद्धालुओं ने पावन गंगा में लगाई  डुबकी

हरिद्वारः देशभर में आज महाशिवरात्रि  की धूम है। काशी से लेकर हरिद्वार तक और उज्जैन से लेकर गोरखपुर तक भक्त भगवान शिव की आस्था में डूबकी लगा रहे हैं। चारों तरफ बम-बम भोले के जयकारे गूंज रहे है। इतना ही नहीं, मंदिरों के बाहर भी भक्तों की लंबी कतारें देखने को मिल रही हैं। महाशिवरात्रि के मौके पर महाकुंभ के पहले शाही स्नान में लाखों की तादाद में श्रद्धालुओं ने हरिद्वार स्थित पवित्र गंगा नदी में डुबकी लगाई। आईजी कुंभ मेला संजुय गुंज्याल ने बताया कि अबतक 22 लाख से ज्यादा श्रद्धालु स्नान कर चुके हैं। अब ‘हर की पौड़ी’ को खाली कराया जा रहा है क्योंकि अखाड़े शाही स्नान के लिए आने की तैयारी कर रहे हैं। इससे पहले बुधवार को सीएम पद संभालते हुए मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने अधिकारियों को पहले शाही स्नान में श्रद्धालुओं पर हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा करने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि जरूरी सावधानियों का पालन करते हुए यह भी सुनिश्चित किया जाए कि कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं को किसी तरह की परेशानी न हो। उन्होंने कहा, ”आगंतुक श्रद्धालु गंगा जी में सुविधापूर्वक स्नान कर सकें। संतों का सम्मान सबसे ऊपर है। कुम्भ की दिव्यता और भव्यता सुनिश्चित की जाए।” हरिद्वार में 11 मार्च को महाशिव रात्रि व 12 मार्च को सोमवती अमावस्या पर शाही स्नान है। इस अवसर पर श्रद्धालुओं को कोरोना प्रोटोकॉल और कोरोना एसओपी का पालन करना होगा। इन शाही स्नानों से हरिद्वार आने वाले श्रद्धालुओं को अब 72 घंटे पहले की कोरोना की जांच रिपोर्ट अपने साथ लानी होगी।

उत्तराखंड के मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने अपने आदेश में कहा है कि हरिद्वार कुंभ में 11 और 12 मार्च को शाही स्नान के अवसर पर कोरोना एसओपी लागू रहेगी। कुंभ मेला अधिकारी को इसका सख्ती से पालन करने के निर्देश दिये गये हैं। हरकी पैड़ी में संतों की देखरेख के लिए मेडिकल टीम तैनात रहेगी। वहीं दूसरी ओर अन्य श्रद्धालुओं की रैंडम जांच के लिए 50 टीमें तैनात रहेंगी।