10 साल पहले लापता युवती का मिला कंकाल, चाचा ने ही की थी हत्या

10 साल पहले लापता युवती का मिला कंकाल, चाचा ने ही की थी हत्या

अमृतसर: अमृतसर में रिश्तो को तार तार करते एक ऐसे मामले का खुलासा हुआ है जहां चाचा ने रुपयों के लालच में अपनी सगी भतीजी का कत्ल शव को दबा दिया|

मामले का खुलासा उस समय हुआ जब लापता हुई युवती की हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड का खुलासा युवती के भाई ने पुलिस के सामने किया है। निरवैल सिंह ने पुलिस को बताया कि उसकी बहन रमनदीप कौर की शादी गुरप्रीत सिंह के साथ हुई थी।

शादी के बाद उसकी बहन और जीजा में तकरार हो गई और दोनों का तलाक हो गया। उसकी बहन को तलाक के बदले साढ़े 4 लाख रुपए मिले थे। रुपयों को लेकर उसके चाचा परगट सिंह और चाची रणजीत कौर के मन में लालच आ गया। वह दोनों भाई-बहन अपने चाचा-चाची के पास रह रहे थे।

फरवरी 2011 की रात चाचा-चाची ने उसकी बहन से रुपए मांगे, तो उसने मना कर दिया। दोनों ने गुस्से में आकर उसकी बहन के सिर पर लोहे की रॉड मार दी, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। उस समय वह छोटा था। उसे धमकी दी कि अगर उसने मुंह खोला तो उसे भी मार डालेंगे। इसलिए वह डर के मारे चुप रहा। 10 मार्च को वह थाना मेहता में गया और पुलिस को सच बताया।

हत्या के बाद उसके चाचा-चाची ने उसकी बहन की लाश को जमीन में दबा दिया था। उसने पुलिस को साथ लेकर उसी जगह पर खुदाई करवाई। इस दौरान डयूटी मैजिस्ट्रेट भी मौजूद थे। पुलिस ने रमनदीप कौर का कंकाल जमीन में से निकाल लिया है। साथ ही आसपास की मिट्टी को भी नमूने के तौर पर कब्जे में लिया है।