मन की बात में बोले पीएम ने मोदी, बोले- कृषि में आधुनिक पद्धतियां समय की जरूरत
PM said in his mind, Modi said - modern methods in agriculture are the need of the hour

मन की बात में बोले पीएम ने मोदी, बोले- कृषि में आधुनिक पद्धतियां समय की जरूरत

नई दिल्लीः रविवार को मन की बात कार्यक्रम के दौरान देशवासियों को संबोधित करते हुए ‘मन की बात’ के सभी श्रोताओं का आभार व्यक्त करता हूँ क्योंकि आपके साथ के बिना ये सफ़र संभव ही नहीं था।” पीएम मोदी ने कहा कि “ऐसा लगता है, मानो, ये कल की ही बात हो, जब हम सभी ने एक साथ मिलकर ये वैचारिक यात्रा शुरू की थी। तब 3 अक्टूबर, 2014 को विजयादशमी का पावन पर्व था और संयोग देखिये, कि आज, होलिका दहन है।”

पीएम मोदी ने आगे कहा कि एक दीप से जले दूसरा और राष्ट्र रोशन हो हमारा – इस भावना पर चलते-चलते हमने ये रास्ता तय किया है। हम लोगों ने देश के कोने-कोने से लोगों से बात की और उनके असाधारण कार्यों के बारे में जाना। उन्होंने आगे कहा कि आपने भी अनुभव किया होगा, हमारे देश के दूर-दराज के कोनों में भी, कितनी अभूतपूर्व क्षमता पड़ी हुई है। भारत माँ की गोद में, कैसे-कैसे रत्न पल रहे हैं। ये अपने आप में भी एक समाज के प्रति देखने का, समाज को जानने का, समाज के सामर्थ्य को पहचानने का, मेरे लिए तो एक अद्भुत अनुभव रहा है।

खेती में नए विकल्पों को आजमाने के लिए किसानों को प्रेरित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, “प्रिय देशवासियो, जीवन के हर क्षेत्र में, नयापन, आधुनिकता, अनिवार्य होती है, वरना, वही, कभी-कभी, हमारे लिए बोझ बन जाती है। भारत के कृषि जगत में – आधुनिकता, ये समय की मांग है। बहुत देर हो चुकी है। हम बहुत समय गवां चुके हैं।”