रूस में जलते अस्पताल के अंदर होती रही सर्जरी, डॉक्टरों ने जान पर खेलकर हार्ट पेशेंट को बचाया
Surgery done inside burning hospital in Russia, doctors save heart patient by playing on their lives

रूस में जलते अस्पताल के अंदर होती रही सर्जरी, डॉक्टरों ने जान पर खेलकर हार्ट पेशेंट को बचाया

मॉस्को: कहते हैं डाक्टर भगवान होता है और वह अपने मरीज की जान बचाने के लिए हर संभव प्रयास करता है, चाहे फिर डाक्टर इस फर्ज को निभाने में अपनी जान भी जोखिम में क्यों न डाली पड़े वह हरसंभव अपने फर्ज को पूरा करता है। ऐसा ही एक वाक्य रूस में घटित हुआ जहां एक अस्पताल में आग लगने के बावजूद भी जलते अस्पताल में डाक्टर ने अपनी जान की परवाह किये बिना मरीज की बायपास सर्जरी पूरी की। जिसके बाद पूरी दुनिया डाक्टर के इस जज्बे को सलाम कर रही है।

घटना रूस के ब्लागोव्सचेंस्क शहर के एक अस्पताल की है। यहां शुक्रवार को अचानक आग गई जब आग की लपटें अस्पताल से उठ रही थी उस दौरान वहां आठ डॉक्टरों की टीम ऑपरेशन थिएटर में एक मरीज की हार्ट सर्जरी कर रही थी। जहां एक तरफ अस्पताल की बिल्डिंग से जबरदस्त धुंआ उठ रहा था तो वहीं डॉक्टरों की टीम ने अपनी जान की परवाह किए बिना सर्जरी जारी रखी।

वहीं जलते हुए अस्पताल में मरीज की सर्जरी करने वाले एक डॉक्टर वैलेन्टिन फिलाटोव ने कहा कि, हमारे पास कोई ऑप्शन नहीं था और हमें मरीज की जिंदगी बचानी ही थी। उन्होंने बताया कि ये हर्ट-बायपास ऑपरेशन था सफल सर्जरी किए जाने के बाद मरीज को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया था।

वहीं आपात स्थिति मंत्रालय ने कहा कि छत पर आग लगने के बाद 128 लोगों को तुरंत अस्पताल से निकाला गया। मंत्रालय ने ये भी बताया कि जिस क्लिनिक में आग लगी थी वह बेहद पुराना बिल्डिंग है।  वहीं स्थाननीय क्षेत्रीय गवर्नल वासिल ओलोर्व ने मैडिक्स और फायरफाइटर्स को उनकी बहादुरी के लिए सलाम किया है।