सुरक्षाबलों पर अब तक का सबसे बड़ा हमला, 22 जवान शहीद, 31 गंभीर घायल
Biggest attack on security forces so far, 22 soldiers martyred, 31 seriously injured

सुरक्षाबलों पर अब तक का सबसे बड़ा हमला, 22 जवान शहीद, 31 गंभीर घायल

बीजापुरः छत्तीसगढ़ के जिला बीजापुर में सीमा सुरक्षा बलों पर नकस्ली हमले में 22 जवान शहीद हो गए हैं, वहीं 31 जवान गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। इस संबंधी जानकारी बीजापुर के एसपी कमलोचन कश्यप ने दी है। वहीं सूत्रों अनुसार नक्सलियों ने सुरक्षाबलों से 2 दर्जन से ज्यादा हथियार लूट लिए हैं। इस मुठभेंड़ में अभी तक 9 नक्सलियों के मारे जाने की खबर है। नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों के 31 जवान घायल भी हुए हैं। इनमें से 24 जवानों को बीजापुर में और 7 को रायपुर में भर्ती करवाया गया है।

बता दें कि शनिवार को बीजापुर और सुकमा जिले की सीमा पर जगरगुंडा थाना क्षेत्र के अंतर्गत जोनागुड़ा गांव के पास सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच शनिवार को हुई मुठभेड़ करीब पांच घंटे तक चली। इस मुठभेड़ में पहले पांच जवानों के शहीद होने की बात कही जा रही थी औऱ 18 जवान लपता बताए जा रहे थे, लेकिन आज सुबह शुरू हुए सर्च ऑपरेशन के बाद शहीद जवानों की संख्या बढ़कर 22 हो गई। आज जंगल में 17 जवानों के शव बरामद हुए हैं। अभी सर्च ऑपरेशन जारी है।

रविवार को छत्तीसगढ़ राज्य के नक्सल विरोधी अभियान के पुलिस उप महानिरीक्षक ओपी पाल ने शनिवार को बताया था कि शुक्रवार रात बीजापुर और सुकमा जिले से केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की कोबरा बटालियन, जिला रिजर्व गार्ड (डीआरजी) और विशेष कार्य बल (एसटीएफ) के संयुक्त दल को नक्सल विरोधी अभियान के लिए रवाना किया गया था। इस अभियान में बीजापुर जिले के तर्रेम, उसूर और पामेड़ तथा सुकमा जिले के मिनपा और नरसापुरम के लगभग दो हजार जवान शामिल थे।