प्रधानमंत्री ने की देशवासियों से मन की बात, बोले हम जल्द ही इस आपदा से बाहर आएंगे

प्रधानमंत्री ने की देशवासियों से मन की बात, बोले हम जल्द ही इस आपदा से बाहर आएंगे

नई दिल्ली : देश में पहले करोना महामारी के बीच प्रधानमंत्री मोदी ने आज देशवासियों से मन की बात की|पीएम के मन की बात कार्यक्रम का मुख्य फोकस भी कोरोना वायरस ही रहा। पीएम ने आज के कार्यक्रम में देशभर में कोरोना से लड़ाई लड़ रहे कोरोना योद्धाओं से बातचीत कर जागरुता फैलाने का प्रयास किया।

कार्यक्रम की शुरुआत में पीएम मोदी ने कहा, “मन की बात ऐसे समय कर रहा हूं जब कोरोना सभी के धैर्य और दुख को बर्दास्त करने की परीक्षा ले रहा है। बहुत से अपने असमय छोड़कर चले गए, पहली वेव का सफलता पूर्वक मुकाबला करने के बाद देश आत्मविश्वास से भरा था लेकिन इस तूफान ने देश को झोकझोर दिया।”

कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री ने मुम्बई के प्रसिद्द डॉक्टर शशांक जोशी से बातचीत की। उन्होंने कार्यक्रम में बताया कि करोना वायरस की दूसरी ये तेजी से आई है जो कि है जो कि पहली लहर से ज्यादा प्रचंड है ।

डॉ. शशांक ने बताया कि पहली और दूसरी लहर में में 2-3 अंतर हैं, एक तो यह युवाओँ और बच्चों में भी दिखाई दे रहा है, पहले वाले लक्ष्ण तो हैं ही जैसे सांस चढ़ना सूखी खांसी और बुखार ये तो सारे हैं ही इसके साथ गंध जाना और स्वाद जाना भी है। लोग भयभीत हैं लेकिन भयभीत होने की जरूरत नहीं है, 80-90 प्रतिशत लोगों में कोई लक्ष्ण नहीं दिखाई दे रहे, जैसे हम कपड़े बदलते हैं वैसे वायरस भी रंग पदल रहा है। सिर्फ सतर्क रहने की जरूरत है।