पंजाब में कैप्टन सरकार को लगा झटका, रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने की सन्यास की घोषणा, चुनाव आयोग पर उठाई उंगली
Captain Sarkar gets a shock in Punjab, strategist Prashant Kishore announces retirement, points finger at Election Commission

पंजाब में कैप्टन सरकार को लगा झटका, रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने की सन्यास की घोषणा, चुनाव आयोग पर उठाई उंगली

जालंधर: रविवार को बंगाल सहित कई राज्यों में हुई मतगणना के बाद जहां ममता बैनर्जी की फिर से सरकार बनना तय है, वहीं उनके राजनीतिक सलाहकार रहे प्रशांत किशोर ने एक इंटरव्यू के दौरान राजनीति से सन्यास लेने की घोषणा कर दी है। एक मीडिया चैनल पर इंटरव्यू क्व दौरान किशोर ने बताया है कि वो अब आगे अब यह काम नहीं करेंगे। वह अब चुनाव प्रबंधन और राजनितिक सलाहकार के काम से अब संन्यास ले रहे है।

बता दें प्रशांत किशोर को पंजाब में होने वाले विधानसभा चुनावों की परीक्षा में रणनीतियों पर विचार-विमर्श कर रहे थे। लेकिन इसी बीच एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में प्रशांत किशोर के ‘संन्यास’ लेने की बात ने सियासत में हड़कंप मचा दिया है।

आपको बता दें कि पंजाब में 2022 के विधानसभा चुनावों को देखते हुए सभी पार्टियों की तरफ से तैयारियां पूरे जोरों-शोरों से चलनी शुरू हो गई है। इसी बीच कांग्रेस पार्टी ने भी प्रशांत किशोर को रणनीतिकार के तौर पर नियुक्त किया था। कैप्टन और प्रशांत की कई बार आगामी चुनावों को लेकर चर्चाएं भी हो चुकी है। ऐसे में पंजाब विधानसभा में एक साल से भी कम समय बचा है और इस घड़ी में प्रशांत किशोर का संन्यास के ऐलान ने कांग्रेस की 2022 विधानसभा चुनावों की तैयारियों को जोरदार झटका लगा है।

जिक्रयोग्य है कि पश्चिम बंगाल में एक बार फिर से ‘दीदी’ ममता बनर्जी की सरकार बनने के बाद उनके सलाहकार प्रशांत किशोर की नीतियों की चर्चा भी हर तरफ हो रही है। प्रशांत किशोर ने कई पार्टियों के साथ चुनावों के दौरान काम किया है और उनको सफलता की बुलंदियों पर पहुंचाया है। ऐसे में पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले कैप्टन का दामन छोड़ना प्रदेश कांग्रेस को बड़ा झटका है।