पीएपी में तैनात हैड कांस्टेबल ने जहरीला पदार्थ निगल कर की खुदकुशी, 5 लोगों पर लगाया परेशान करने का आरोप
Head constable posted in PAP swallows poisonous substance, commits suicide, accuses 5 people of harassing him

पीएपी में तैनात हैड कांस्टेबल ने जहरीला पदार्थ निगल कर की खुदकुशी, 5 लोगों पर लगाया परेशान करने का आरोप

जालंधरः पीएपी में तैनात हैड कांस्टेबल ने जहरीला पदार्थ निगल कर आत्महत्या कर ली है। मृतक के पास मिले तीन पेजों के सुसाइड नोट में कांस्टेबल ने 5 लोगों पर आत्महत्या करने के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया है। मृतक कांस्टेबल की पहचान हैड कांस्टेबल श्रेष्ठ गिल पुत्र शरीफ मसीह के रूप में हुई है, तथा वह मूल रूप से जिला गुरदासपुर के गांव अब्बल खैर का रहने वाला था। मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

जानकारी अनुसार, मृतक कांस्टेबल काफी सालों से अपनी पत्नी और बच्चों सहित पीएपी कांम्पलैक्स में मंदिर के नजदीक स्थित क्वार्टर नंबर-90 में रहता था। इंस्पेक्टर अजायब सिंह ने बताया कि हैड कांस्टेबल की पत्नी के अनुसार 30 अप्रैल की शाम करीब 6 बजे उसके पति श्रेष्ठ गिल ने क्वार्टर से बाहर जाकर जहरीला पदार्थ निगल लिया था। उसने वापिस आकर बताया कि रोहिनी नाम की महिला और उसके चार अन्य साथियों से परेशान होकर यह कदम उठाया है। उर्वशी ने बताया कि वह अपने पति की गंभीर हालत को देखते हुए उसे रामा मंडी के जौहल अस्पताल ले गई, जहां डॉक्टरों ने बताया कि श्रेष्ठ के शरीर में जहर पूरी तरह फैल चुका है, जिसके चलते उसकी मौत हो गई।

मौके पर पहुंचे थाना कैंट के इंचार्ज औजला ने कहा कि पुलिस ने मृतक की ओर से लिखे सुसाइड नोट को अपने कब्जे में ले लिया है और उसकी लाश का पोस्टमार्टम करवाने के बाद परिवार वालों को दे दी गई है। अजायब सिंह ने कहा कि पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए रेड कर रही है।