मोगा में हुआ दर्दनाक हादसा, खस्ताहाल ईमारत गिरने से मां-बेटी की दबकर हुई मौत… पढ़ें पूरी खबर
Traumatic accident occurred in Moga, mother-daughter died of bruising due to the collapse of the crumbling building ... Read full news

मोगा में हुआ दर्दनाक हादसा, खस्ताहाल ईमारत गिरने से मां-बेटी की दबकर हुई मौत… पढ़ें पूरी खबर

मोगाः मोगा से एक बड़ी खबर सामने आ रही है, जहां एक पुरानी खस्ता हाल ईमारत गिरने से उसके नीचे दबकर मां-बेटी की मौत हो गई है। जबकि एक बेटी घर से बाहर होने के कारण बच गई है। मौके पर लोगों ने मलबे से शवों को बाहर निकाल लिया है। मकान को लेकर पारिवारिक सदस्यों में विवाद चल रहा था। विवाद के चलते लगातार खस्ताहाल होते जा रहे मकान की मरम्मत परिवार के लोग नहीं करा पा रहे थे।

मौके पर पहुंचे लोगों ने करीब एक घंटे के प्रयास के बाद मलबे में दबीं मां-बेटी को जिंदा निकाल लिया था, जिस समय उन्हें अस्पताल ले जाया जा रहा था, सांसे चल रही थीं लेकिन अस्पताल पहुंचने पर दोनों की माैत हाे गई। जानकारी के अनुसार रामगंज की गली नं.तीन निवासी चरणजीत कौर अपने पुस्तैनी मकान में पिछले काफी समय से रह रही थी, मकान को लेकर परिवार के सदस्यों में विवाद चल रहा था, मामला अदालत में था। वर्तमान में इस बिल्डिंग में 45 साल की चरणजीत कौर अपनी बड़ी बेटी सुखदीप कौर व प्लस-1 की छात्रा किरणदीप कौर के साथ रहती थी।

जानकारी अनुसार घटना दोपहर करीब डेढ़ बजे घटी जब चरणजीत कौर व किरणदीप कौर घर के अंदर काम कर रही थीं, इसी दौरान अचानक पहले छत की मंजिल की गिर गई। घर के अंदर मौजूद मां-बेटी चरणजीत कौर व उसकी बेटी किरणदीप कौर मलबे में दब गई। सूचना मिलते ही आसपास के लोगों ने मौके पर पहुंचकर मलबे में दबी मां बेटी को निकालने का प्रयास शुरू कर दिया। वहीं महिला की दूसरी बेटी सुखदीप कौर किसी डाक्टर के यहां जॉब कर रही थी, वह हादसे के दौरान घर पर नहीं थी।

मौके पर डीएसपी सिटी बरजिंदर सिंह भुल्लर, थाना सिटी वन के प्रभारी गुरप्रीत सिंह, सिटी-2 के प्रभारी बलराज मोहन मौके पर पहुंच गए थे।