पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में कांग्रेस 11 जून को करेगी पूरे देश में प्रदर्शन
Congress will protest across the country on June 11 in protest against the rising prices of petrol and diesel

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में कांग्रेस 11 जून को करेगी पूरे देश में प्रदर्शन

नई दिल्लीः देश में लगातार बढ़ रही पेट्रोल-डीजल की कीमतों के विरोध में कांग्रेस पार्टी ने 11 जून को पूरे देश में विरोध प्रदर्शन का ऐलान किया है। जिक्रोयग्य है कि देश के कई शहरों में पेट्रोल के दाम 100 रुपये प्रति लीटर से ऊपर पहुंच गये हैं। वहीं दिल्ली में यह 100 रुपये के करीब पहुंच चुके हैं। जिसके बाद विरोध में कांग्रेस पार्टी ने पेट्रोल-डीजल व एलपीजी की बढ़ती कीमतों के विरोध में 11 जून को पूरे देश में विरोध प्रदर्शन करने का ऐलान किया है।

जिक्रयोग्य है कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों में ताबड़तोड़ वृद्धि का सिलसिला थमा नहीं है। पिछले महीने की शुरुआत में खत्म हुए विधानसभा चुनावों के बाद से 22 बार पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ चुके हैं। आज बुधवार को भी पेट्रोल और डीजल के दाम में बढ़ोतरी हुई। राजधानी दिल्ली में दोनों ईंधनों के दाम में 25-25 पैसे की बढ़ोतरी हुई। इसी के साथ दिल्ली के बाजार में बुधवार को पेट्रोल 95.56 रुपये प्रति लीटर पर जबकि डीजल 86.47 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया।

केन्द्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने सोमवार को देश में पेट्रोल, डीजल के दाम में हो रही वृद्धि के लिये वैश्विक बाजार में कच्चे तेल के दाम में आई तेजी को जिम्मेदार बताया। प्रधान ने माना कि हाल के दिनों में पेट्रोल, डीजल के दाम बढ़े हैं। उन्होंने कहा कि पेट्रोल, डीजल को माल एवं सेवाकर (जीएसटी) के दायरे में लाने के बारे में कोई भी निर्णय जीएसटी परिषद को लेना है।

माना जा रहा है कि पेट्रोल, डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने से इनके दाम में कमी आ सकती है। उन्होंने कहा, ‘‘पेट्रोलियम पदार्थों के दाम बढ़ने के पीछे मुख्य वजह अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम 70 डालर प्रति बैरल पर पहुंच जाना है।