अरूसा मामले पर बोले नवजोत सिद्धू, कहा- पार्टी नेता पंजाब के असली मुद्दों पर वापस लौटें, मैं तो असली मुद्दों पर टिका रहूंगा और उनसे नहीं भटकूंगा
Navjot Sidhu said on the Arusa case, said- Come back to the real issues of Punjab, I will stick to the real issues and will not deviate from them

अरूसा मामले पर बोले नवजोत सिद्धू, कहा- पार्टी नेता पंजाब के असली मुद्दों पर वापस लौटें, मैं तो असली मुद्दों पर टिका रहूंगा और उनसे नहीं भटकूंगा

चंडीगढ़ः पिछले दिनों से अरुसा आलम को लेकर पंजाब की सियासत में आए ऊफान के बाद पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने पहली बार चुप्पी तोड़ी है। इस दौरान उन्होंने अपनी ही पार्टी के नेताओं को पंजाब के असली मुद्दों पर बात करने की नसीहत दे दी। उन्होंने नेताओं को चेतावनी देते कहा कि वह पंजाब के असल मुद्दों पर बात न करके पंजाब को संवारने का आखिरी मौका भी खो रहे हैं।

नवजोत सिद्धू ने पूछा कि हम कैसे उस फाइनेंशियल इमरजेंसी को रोकेंगे, जो हमारी सीढ़ियों तक पहुंच चुकी है। पंजाब के सिर चढ़े कर्जे का हल कैसे निकालेंगे। सिद्धू ने कहा कि मैं तो असली मुद्दों पर टिका रहूंगा और उनसे नहीं भटकूंगा। सिद्धू ने कहा कि वक्त यह चुनने का है कि हम पंजाब को कभी न पूरा होने वाला नुकसान होने दें या फिर डैमेज कंट्रोल के आखिरी मौके को संभालें। इसके जरिए राज्य के संशोधनों को वापस राज्य में लाया जा सके, न कि उसे प्राइवेट पाकेट में जाने दें।

सिद्धू के मीडिया सलाहकार सुरिंदर डल्ला ने कहा कि अरूसा पर बहस तो कैप्टन को ही फायदा पहुंचा रही है। इसके उलट सिद्धू पंजाब के मुद्दों के पहरेदार हैं। इसी वजह से अब पंजाब के मुद्दों से भटकाने की साजिश हो रही है। जिसके जरिए सिद्धू सभी नेताओं को वापस मुद्दे पर लेकर आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि अरूसा का मामला जांच एजेंसियों पर छोड़ देना चाहिए। पंजाब में नई बनी चन्नी सरकार बड़े मुद्दों पर कुछ नहीं कर सकी। श्री गुरू ग्रंथ साहिब की बेअदबी और उससे जुड़े गोलीकांड के इंसाफ में कुछ नहीं हुआ। हाईकोर्ट में सीलबंद पड़ी स्पेशल टास्क फोर्स की रिपोर्ट भी नहीं खुल सकी।