You are currently viewing जालंधर के हेल्थ कम्युनिटी सेंटर में इलाज न मिलने के कारण मरीज की तड़प-तड़प कर हुई मौत, परिजनों ने किया हंगामा
Due to non-availability of treatment in Jalandhar's Health Community Center, the patient died in agony, the family created a ruckus

जालंधर के हेल्थ कम्युनिटी सेंटर में इलाज न मिलने के कारण मरीज की तड़प-तड़प कर हुई मौत, परिजनों ने किया हंगामा

जालंधरः महानगर के अधीन आते बस्ती गुजां स्थित कम्युनिटी हेल्थ सेंटर में उस वक्त हंगामा हो गया जब वहां एक मरीज की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। मरीज के परिजनों ने हंगामा करते हुए हेल्थ सेंटर के प्रबंधकों पर गंभीर आरोप लगाए गए। परिजनों ने बताया कि वह सुबह हेल्थ सेंटर दवाई लेने आए थे पर डॉक्टर ने उन्हें बाहर इंतजार करने के लिए कहा था। इस दौरान मरीज की हालत खराब होती गई और वह वहीं गिर पड़ा व तड़प-तड़प कर उसकी मौत हो गई।

परिजनों ने आरोप लगाते हुए कहा कि हेल्थ सेंटर के प्रबधकों ने मृतक के शव को जमीन पर ही पड़ा रहने दिया और परिवार को भी इस बारे में सूचित नहीं किया गया। मौके पर पुलिस प्रशासन के अलावा सेहत विभाग के अधिकारी पहुंचे और उन्होंने मामले को शांत करने का प्रयास किया।

घटना संबंधी जनकारी देते हुए बस्सी मिट्ठू निवासी सतनाम सिंह ने बताया कि उनके 48 साल के पिता शेर सिंह सुबह करतारपुर स्थित गुरुद्वारा साहिब में माथा टेकने के बाद घर में सब्जी छोड़कर कंधे में दर्द होने की दवाई लेने के लिए अस्पताल में पहुंचे। वह स्वयं अपना स्कूटर चला कर अस्पताल पहुंचे। जहां उन्होंने अपना एक्सरे भी करवाया। कुछ ही देर बाद उन्हें फोन पर सूचना मिली कि उनके पिताजी की तबीयत खराब हो गई है और वह गिर गए हैं उनकी हालत गंभीर है।

वह तुरंत अस्पताल पहुंचे तो देखा कि उनके पिता अस्पताल में गिरे हुए थे और कोई भी उनकी सुध-बुध नहीं ले रहा था और आसपास खून बिखरा हुआ था। उन्होंने आरोप लगाया कि ड्यूटी पर तैनात किसी भी डाक्टर ने उनके पिताजी की सुध बुध नहीं ली। उन्होंने पुलिस व जिला प्रशासन को अस्पताल के डाक्टर के खिलाफ मामला दर्ज कर सस्पेंड करने की मांग रखी है।