You are currently viewing पुलिस ने की आईपीएल खिलाड़ी की पिटाई, पुलिस जवान के मुक्के से आंख फूटते-फूटते बची, पुलिस ने कहा- चेकिंग में सहयोग नहीं किया

पुलिस ने की आईपीएल खिलाड़ी की पिटाई, पुलिस जवान के मुक्के से आंख फूटते-फूटते बची, पुलिस ने कहा- चेकिंग में सहयोग नहीं किया

नई दिल्लीः आरसीबी की टीम के लिए खेलने वाले आईपीएल और रणजी खिलाड़ी विकास टोकस के साथ दिल्ली पुलिस द्वारा मारपीट करने का मामला सामने आया है। पुलिस पर आरोप लगाते आईपीएल खिलाड़ी विकास टोकस ने कहा कि पुलिस के एक जवान द्वारा मारे गए मुक्के से उनवकी आंख फूटते-फूटते बची है। वहीं पुलिस ने विकास पर दुर्व्यवहार करने और गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम के दौरान चेकिंग में सहयोग न करने का आरोप लगाया है।

इस संबंधी भिकाजी कामा पुलिस स्टेशन के पोस्ट इंचार्ज के खिलाफ दी शिकायत में विकास ने कहा है कि पुलिस अधिकारी ने उनके साथ बदतमीजी और मारपीट की। इसमें उनकी आंख के नीचे गंभीर चोट आई है और आंख की रोशनी जाते-जाते बची। विकास ने दिल्ली पुलिस हेडक्वार्टर को शिकायती मेल करते हुए लिखा “यह मेल में उस मामले की शिकायत को लेकर कर रहा हूं, जो मेरे साथ 26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर चेकिंग के दौरान हुआ। मैं एक राष्ट्रीय स्तर का क्रिकेटर हूं और आईपीएल में भी खेलता हूं। 26 जनवरी 2022 को मेरे साथ पुलिस अधिकारियों ने दुर्व्यवहार किया, जो निंदनीय है। 

उधर, पुलिस ने बताया कि विकास ने चेकिंग के दौरान एक जिम्मेदार सिटीजन की तरह सहयोग नहीं किया। उन्होंने अपने आईपीएल खिलाड़ी होने का रौब झाड़ा और कहा कि एक कांस्टेबल रैंक का जवान कैसे उनकी चेकिंग कर सकता है। चेकिंग के इस मामले के बीच कहासुनी और हाथापाई की स्थिति बनी और इस दौरान उन्हें चेहरे पर मुक्का लग गया। हालांकि बाद में उनके ससुर जो खुद पुलिस अधिकारी रह चुके हैं, वे विकास के साथ पुलिस कार्यालय आए और गणतंत्र दिवस पर चेकिंग की गंभीरता को समझते हुए इस मामले पर पुलिस से माफी मांगी और माफीनामा भी लिखा। हालांकि बाद में विकास फिर पुलिस के​ खिलाफ खिलाफ गलत कंप्लेंट कर रहे हैं।